फ़कीर हो गया हूँ तेरे जाने के बाद – आशीष अवस्थी

तेरे साथ रहता था मैं बादशाहों की तरह।
फ़कीर हो गया हूँ तेरे जाने के बाद।

 

रात भर जागता रहा ख्वाबों की तलाश में।
नींद आयी भी मुझे तो सहर होने  के बाद।

 

अपने नुक्स खुद से नजर न आये कभी।
सच दिखने लगा वक़्त की मार के बाद।

 

उस पार जो सब हरा दिख रहा था कल तक।
वो बयाबान था , जाना दरिया पार के बाद।

 

मैखाने में बैठे लोगों को क्या पता ?
नशा तो मैंने जाना, तुझे जानने के बाद

 

तेरे साथ रहता था मैं बादशाहों की तरह।
फ़कीर हो गया हूँ तेरे जाने के बाद

 

-आशीष अवस्थी

18 Comments

  1. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 28/04/2017
    • Ashish Awasthi Ashish Awasthi 30/04/2017
  2. Bindeshwar prasad sharma bindeshwar prasad sharma 28/04/2017
  3. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 28/04/2017
  4. Kajalsoni 28/04/2017
  5. kiran kapur gulati kiran kapur gulati 29/04/2017
    • Ashish Awasthi Ashish Awasthi 30/04/2017
  6. C.M. Sharma babucm 29/04/2017
  7. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 29/04/2017
  8. Madhu tiwari Madhu tiwari 29/04/2017

Leave a Reply