नक्सलवादी – शिशिर मधुकर

ओढ़ गरीबी का चोला जिसने भी बन्दूक चला दी है
मेरे इस भारत में बन बैठा वो तो एक नक्सलवादी है
मानवता की बात करे और अधिकार के ढंके वो पीटें
इन सबके तन पर लेकिन देखो लाखों खून के हैं छींटें
ढुलमुल सरकारों के कारण नक्सली हिम्मत बढ़ती है
तभी तो पीढ़ी दर पीढ़ी सरकारों से ये बिरादरी लड़ती है
हर टी वी चैनल पर इनके कई वकील मिल जाएंगे
सरकारों को कोस कोस जो मानवाधिकार चिल्लाएंगे
गर इस व्याधि को हरना है तो पहले उनको मौन करो
नक्सली हित साधक लोगो को पूरी तरह से गौण करो
गेहूँ को गर पीसना चाहो घुन से फिर ना प्यार करो
पूरी नक्सलवादी सोच का तुम जड़ से तब संहार करो

शिशिर मधुकर

20 Comments

  1. angel yadav ANJALI YADAV 25/04/2017
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 25/04/2017
  2. raquimali raquimali 25/04/2017
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 25/04/2017
  3. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 25/04/2017
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 25/04/2017
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 25/04/2017
  4. chandramohan kisku chandramohan kisku 25/04/2017
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 25/04/2017
  5. Meena Bhardwaj Meena Bhardwaj 25/04/2017
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 25/04/2017
  6. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 25/04/2017
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 26/04/2017
  7. Madhu tiwari Madhu tiwari 25/04/2017
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 26/04/2017
  8. C.M. Sharma babucm 26/04/2017
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 26/04/2017
  9. Kajalsoni 27/04/2017
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 27/04/2017

Leave a Reply