कलाकार

मुझे काम का ना बनाओ ,
मुझे बेकार रहने दो; मुझे कलाकार रहने दो |
गर जो छीन लोगे ताक़त लड़ने की, कोई शिकायत न करूँगा;
मगर कम से कम मांगने का अधिकार रहने दो; मुझे कलाकार रहने दो |
ख्वाहिश नहीं कि कोई इज़्ज़त बख्शे, दिल कि धड़कन न बनाओ;
मुझे तो बस पाजेब कि झंकार रहने दो; मुझे कलाकार रहने दो |
वक़्त के सफर ने तालीम दी है मुझको, मगर होशियार न कहो मुझे;
बस समझदार रहने दो; मुझे कलाकार रहने दो |
अदब से पेश आता हूँ, ना मजबूरी है न कमजोरी, ये ताक़त है मेरी;
इसे न छीनो, मुझे दमदार रहने दो; मुझे कलाकार रहने दो |
कई मर्तबा बातो में, ढूंढ लेता हूँ बहाने हंसने के, पर आलोचक न कहो;
मुझे व्यंगकार रहने दो; मुझे कलाकार रहने दो|
तेरे हर हुक्म को मैं, मान नहीं पाया हूँ, मगर मुझे गद्दार न कहो;
मुझे खुद से वफादार रहने दो; मुझे कलाकार रहने दो |
न जज़्बा है न चाहत है, शिखर को कोई छूने की, क्यूँ करते हो तख्त की बातें;
मुझे तो बस सलाहकार रहने दो; मुझे कलाकार रहने दो |
बाहों में भरने से हिचकते हो क्यूँ तुम मुझको, परायी मोहब्बत नहीं हूँ;
मुझे अपना पहला प्यार रहने दो; मुझे कलाकार रहने दो|
किनारों पर आने की, कश्तियों की तमन्ना है, रतन बेमंजिल मुशाफिर है;
उसे इसी मझदार रहने दो; मुझे कलाकार रहने दो |

11 Comments

  1. babucm babucm 19/04/2017
    • Ratan 21/04/2017
    • Ratan 21/04/2017
  2. mani mani 19/04/2017
    • Ratan 21/04/2017
  3. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 19/04/2017
    • Ratan 21/04/2017
  4. Madhu tiwari Madhu tiwari 21/04/2017
    • Ratan 21/04/2017
  5. Kajalsoni 22/04/2017

Leave a Reply