जीवन का सच

जन्म लिया धरती पर जिसने, उसको एक दिन मिट जाना है !
संसार तो है एक माया नगरी, इसमें सबको बंध जाना है !!
लोभ किया जिसने भी मन में, फिर उसका कोई नहीं ठिकाना है !
दीन दुखी के हाँथ को थामो, मन में सुख मिल जाना है !!
माया के बंधन को तुम छोड़ो, प्रभू के गुन को गाना है !
राम नाम का जाप करो तुम, जीवन को सफल बनाना है !!
लोभ भरे इस दुनियाँ में हमको, व्यर्थ ना समय गवाना है !
झूठ का दामन छोड़ सभी को, सत्य का साथ निभाना है !!
भक्ति का रस पान करो तुम, जीवन को स्वर्ग बनाना है !
राम नाम का जाप करो तुम, जीवन को सफल बनाना है !!
!!जन्म लिया धरती पर जिसने, उसको एक दिन मिट जाना है !!

लेखक श्रीकांत मिश्रा

16 Comments

  1. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 15/04/2017
    • Er. Shrikant Mishra Er. Shrikant Mishra 17/04/2017
  2. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 15/04/2017
    • Er. Shrikant Mishra Er. Shrikant Mishra 17/04/2017
    • Er. Shrikant Mishra Er. Shrikant Mishra 17/04/2017
  3. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 15/04/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 15/04/2017
  4. chandramohan kisku chandramohan kisku 15/04/2017
  5. chandramohan kisku chandramohan kisku 15/04/2017
  6. Kajalsoni 16/04/2017
    • Er. Shrikant Mishra Er. Shrikant Mishra 17/04/2017
  7. mani mani 16/04/2017
    • Er. Shrikant Mishra Er. Shrikant Mishra 17/04/2017
  8. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 16/04/2017
    • Er. Shrikant Mishra Er. Shrikant Mishra 17/04/2017

Leave a Reply to chandramohan kisku Cancel reply