चाहो तो …

चाहो तो इस रिश्ते को
कोई नाम ना दो,
मेरे हाथो में
अब कभी जाम ना दो ।

तन्हाई में अपने दिल को
यूँ रूलाया ना करो,
चुप बैठे हो क्यों
कुछ तो बात करो ।

बुझती हुई नज़रो के दीयो को
कुछ तो हैरान करो,
प्यार ही से देखो हमें
चाहे प्यार ना करो ।

गुजरे हुए उन हसीन लम्हो को
जरा फिर से जियो,
वफा करके भी
जिसे बेवफाई मिले,
उसकी थोड़ी तो कभी कद्र करो ।

चाहो तो इस रिश्ते को
कोई नाम ना दो,
मेरे हाथो में
अब कभी जाम ना दो ।

#ashwin1827

12 Comments

  1. C.M. Sharma babucm 12/04/2017
  2. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 12/04/2017
  3. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 12/04/2017
  4. डॉ. विवेक डॉ. विवेक 12/04/2017
  5. Kajalsoni 12/04/2017

Leave a Reply