मीठे बोल – अनु महेश्वरी

बस दो मीठे बोल,
कभी कभी काफ़ी होते,
रूठे हुए को मनाने के लिए|

बस दो मीठे बोल,
कभी कभी काफ़ी होते,
उदास चेहरे पे हंसी लाने के लिए|

बस दो मीठे बोल,
कभी कभी काफ़ी होते,
रोते हुए को हंसाने के लिए|

बस दो मीठे बोल,
कभी कभी काफ़ी होते,
किसी को तनाव मुक्त कराने के लिए|

बस दो मीठे बोल,
कभी कभी काफ़ी होते,
झगड़े को शांत कराने के लिए|

बस दो मीठे बोल,
कभी कभी काफ़ी होते,
अपनेपन का एहसास कराने के लिए|

 

 

अनु महेश्वरी
चेन्नई

20 Comments

    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 10/04/2017
  1. C.M. Sharma babucm 10/04/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 10/04/2017
  2. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 10/04/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 10/04/2017
  3. barkhar7 barkhar7 10/04/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 10/04/2017
  4. Meena Bhardwaj Meena Bhardwaj 10/04/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 10/04/2017
  5. Kajalsoni 10/04/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 10/04/2017
  6. Madhu tiwari Madhu tiwari 10/04/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 10/04/2017
  7. vijaykr811 vijaykr811 10/04/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 10/04/2017
  8. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 11/04/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 11/04/2017
  9. mani mani 12/04/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 12/04/2017

Leave a Reply