“सत्यम श्रीवास्तव के दिल की बात”

इतनी नफरत है मुझसे बोलो तो ये जँहा छोड़ दू ,
पर उन लाँखो को कौन सँभालेगा जो मेरे लिए ये जँहा छोड़ सकते है।

युवा कवी “सत्यम श्रीवास्तव”
नैनी, इलाहाबाद।

2 Comments

  1. Madhu tiwari Madhu tiwari 08/04/2017
  2. Kajalsoni 09/04/2017

Leave a Reply