जाग प्यारे अब देर ना कर

।। जाग प्यारे अब देर ना कर ।।

जाग प्यारे अब देर ना कर,
जग चला आगे तू बैठ किनारे,
सपनो मे अपने अब सैर ना कर ।

जीव जन्तु पर जौर ना कर,
इन्सानो से तू बैर ना कर,
हेर फेर का अब दौर बढ़ा,
अपनो की अब तो खैर कर ।

घोर अन्धेरा मन पर छाया,
जो पाकर खोया, उसका मैर ना कर ।

जो है तेरा उसका , अभिमान ना कर ।
अँहकार का अपने ,बलिदान तो कर ।

कल्पना की उड़ान भरके,
नई भोर का अभिनन्दन तो कर ।

शोर हो मेहनत का हर ओर,
जगत मे नाम कुछ ऐसा तो कर ।

जोग लेकर अपनो को गैर ना कर,
जाग प्यारे अब देर ना कर ।

#ashwin1827

4 Comments

  1. vijaykr811 vijaykr811 07/04/2017
    • ashwin1827 ashwin1827 07/04/2017
  2. C.M. Sharma babucm 07/04/2017
    • ashwin1827 ashwin1827 07/04/2017

Leave a Reply