झगड़ा

झगड़ा
क्यों होता है ये झगड़ा
दो लोगों की बीच की टक्करार है इसमे
दो दिलो की टूटने की आहट हैं इसमे
छोटी छोटी बातों से शुरू होकर
बड़े बड़े मुद्दे पर खत्म होता है ये
सुबह से शाम बीत जाती हैं इसमे
ओर ज्यादा हिंसक होता जाता है ये
अपनो से ही होता है ये झगड़ा
आपसी मतभेदो का परिणाम है ये
पुरे माहोल को उदासी में डुबोकर
सबका सुकुन छिन लेता है ये
अपने अहं को बीच में लाकर
खुद को सही साबित करने का फ़ितुर है ये
कभी कभी अच्छा होता है ये झगड़ा
दिलो की भड़ास निकालकर
गुस्से में छुपा प्यार दिखाता है ये
सब शान्त हो जाने पर
गलती का अहसास कराता है ये
एक दुजे से दूर जाने पर
एक दुजे को नजदीक लाता है ये
इसकी शुरूआत बड़ी भयानक
अंत बड़ा खूबसूरत होता है

बरखा रानी

4 Comments

  1. C.M. Sharma babucm 06/04/2017
  2. Madhu tiwari Madhu tiwari 07/04/2017
  3. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 07/04/2017
  4. Kajalsoni 07/04/2017

Leave a Reply