विज्ञान और धर्म

विज्ञान और धर्म की ऐसी एक पहचान हो
विज्ञान ही धर्म हो और धर्म ही विज्ञान हो|

आतंक हिंसा भेदभाव मिटें इस संसार से
एक नया युग बने रहे जहाँ सब प्यार से||

विज्ञान जो है सिमट गया उसकी नयी पहचान हो
मेरा तो कहना है, कि हर आदमी इंशान हो||

हर आदमी पढ़े बढ़े नये-2 अनुसंधान हो
उन्नति के रास्ते चले, पर सावधान हो||

प्यार का संवाद समस्त विश्व के दरमियान हो
महानता का वर्चस्व लिए विज्ञान ही महान हो||

4 Comments

  1. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 06/04/2017
  2. C.M. Sharma babucm 06/04/2017
  3. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 06/04/2017
  4. Kajalsoni 07/04/2017

Leave a Reply