अच्छा किया जो तुमने किया

अच्छा किया जो तुमने किया
मुझमें है तागत ,
जो मैंने खोया है उसे फिर से पाने की /
कितने भी धोखे मिले ,मैं फिर से भरोसा करुँगी /
हिम्मत रखूंगी, संभल के चलूंगी ,
सिद्दत से कोशिश करुँगी ,
फिर से मुस्कुराने की /
मुझमें है तागत ,
जो मैंने खोया…
अच्छा किया जो तुमने किया ,
तब जा कर देखा मैंने
असली चेहरा ,
अपना भी और दुनिया का भी ,
तभी तो महसूस किया कि,
जीवन जितना कठिन है ,
मैं उतनी ही आसान हूँ
केसवे मुकाबला कर सकती हूँ /
शुक्रिया तुम्हारा ,
तुमने मुझे जो यह महसूस कराया ,
झूठ की दुनिया में रहने वाली मैं ,
मुझमें है तागत ,सच को समझने की /
सच को अपनाने की /
मैं यह नहीं कह सकती कि कोई शिकायत नहीं तुझसे /
तुझे खोने का दुःख तो होगा मुझे /
पर यह सच है .
जीवन में उचाईया पाने पर ,
तेर दिल से शुक्रिया जरूर करुँगी /
कि अच्छा किया ,
तूने मुझे धोखा दिया ,
मुझे रुलाया ,
अच्छा किया ,
जो मुझे सच से मिलवाया /
—-यामिनी सिंह—-

4 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 30/03/2017
  2. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 30/03/2017
  3. Kajalsoni 31/03/2017
  4. babucm babucm 31/03/2017

Leave a Reply