ढोंग पाखण्ड संसार में — डी के निवातिया

ढोंग पाखण्ड संसार में

नवदुर्गा के नाम पर भक्त बने हजार
भूखे रहकर जता रहे भक्ति व प्यार
जीवन में नारी को सम्मान दिया नही
मंदिर में लगा रहे माँ की जय जयकार !!
!
वाह रे कलयुग तेरी माया बड़ी अपरम्पार
देवी नाम पर चल रहा जोरो पर व्यापार
मंदिर में चढ़े फल फूल के संग मिठाइयां
माँ के दर पे बैठे भूखे बच्चे अनाथ अपार !!
!
कब तक चलेगा ये ढोंग पाखण्ड संसार में
समझी जाती नारी वस्तु हर घर परिवार में
जिसके बूते घर के मालिक बनते फिरते है
उसे ही नही मिलता उचित स्थान द्वार में !!

!
!
!

डी के निवातिया

24 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 30/03/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 31/03/2017
  2. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 30/03/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 31/03/2017
  3. Meena Bhardwaj Meena Bhardwaj 30/03/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 31/03/2017
  4. raquimali raquimali 30/03/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 31/03/2017
  5. Kajalsoni 30/03/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 31/03/2017
  6. Madhu tiwari madhu tiwari 30/03/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 31/03/2017
  7. sarvajit singh sarvajit singh 30/03/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 31/03/2017
  8. babucm babucm 31/03/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 31/03/2017
  9. mani mani 31/03/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 03/04/2017
  10. Shyam Shyam tiwari 31/03/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 03/04/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 03/04/2017
  11. kiran kapur gulati kiran kapur gulati 10/04/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 11/04/2017

Leave a Reply