एक नन्नी सी जान — कवि:- अमन नैन

  • एक नन्नी सी जान को नंगे पांव 
  • अंगारों पर चलते देखा है
  •  प्यारी से आँखों में उसके
  • मैने ‌सपनों को उडता देखा है
  • खिलौनों की छोडकर उसे
  • तलवारों से खेलते देखा है
  • जिन्दगी से लडकर उसे
  • मुसीबतों को हराते देखा है
  • आए जिससे घर में खुशिया
  • उसे सडक पर मांगते देखा है
  • छोड़ कर काँपी पेन उसे
  • हाथ फैलाते देखा है
  • छोटी सी उम्र में कन्धो पर उसे
  • परिवार का बोझ उठाते देखा  है
  • अपनों का पेट भरने के लिए उसे 
  • खुद की जिन्दगी दाव पर लगते देखा है
  • देख कर बेबसी उसकी
  •  अमन की आँखों से आंसू निकलते देखा है

 

8 Comments

  1. KaviKrishiv KaviKrishiv 29/03/2017
    • Aman Nain Aman Nain 29/03/2017
  2. Kajalsoni 29/03/2017
  3. C.M. Sharma babucm 29/03/2017
    • Aman Nain Aman Nain 29/03/2017
  4. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 29/03/2017
    • Aman Nain Aman Nain 29/03/2017
  5. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 29/03/2017

Leave a Reply