स्पर्धा २०१७ में प्रेषित कविता

“वो हिन्द का सपूत है”

आप सभी के मार्गदर्शन के चलते मेरी कविता “वो हिन्द का सपूत है” को “स्पर्धा २०१७” प्रतियोगिता में तृतीय स्थान प्राप्त हुआ है. कविता का लिंक ऊपर दिया गया है. अगर काव्य उचित लगे तो अन्य लोगों से अवश्य साझा करें.
– धन्यवाद

12 Comments

  1. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 28/03/2017
  2. Madhu tiwari Madhu tiwari 28/03/2017
  3. Kajalsoni 29/03/2017
  4. babucm babucm 29/03/2017
    • सोनित 29/03/2017
  5. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 29/03/2017
  6. सोनित 29/03/2017
  7. vijaykr811 vijaykr811 29/03/2017

Leave a Reply