अमर कहानी — डी के निवातिया

शहीद दिवस पर अमर बलिदानी भगत सिंह, राजगुरु व् सुखदेव जी को श्रद्धा सुमन अर्पित और कोटि कोटि नमन ।।

देश की खातिर सर्वस्व लुटाकर लिखी अमर कहानी थी।
श्रृंगार कर फांसी के फंदे से सजी जिनकी जवानी थी ।
उनकी कुर्बानियों की बदौलत लेते खुली हवा में साँसे ।
याद रखना तेइस मार्च को दर्ज हुई धरा पे अमर निशानी थी ।।

????????????????????????????????



डी के निवातिया।???? ???? ????????

20 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 23/03/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 25/03/2017
  2. Meena Bhardwaj Meena Bhardwaj 23/03/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 25/03/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 25/03/2017
  3. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 23/03/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 25/03/2017
  4. ALKA ALKA 23/03/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 25/03/2017
  5. mani mani 23/03/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 25/03/2017
  6. श्याम दत्त मिश्रा Shyam datt Mishra 23/03/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 25/03/2017
  7. C.M. Sharma babucm 23/03/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 25/03/2017
  8. डॉ. विवेक डॉ. विवेक 24/03/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 25/03/2017
  9. Madhu tiwari Madhu tiwari 24/03/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 25/03/2017

Leave a Reply