प्यार

हर पल प्यार का पंछी, कुछ पागल सा रहता हे;
एक पल को वो पाने के लिये, पल-पल यूँ ही मरता हैं।
उस एक पल को वो, कुछ यूँ पलकों पर सजाता हे;
कि उस एक पल में वो, हर पल को जी जाता हैं।
पर प्यार का वो पल, हर पल सताता हे;
पल भर के बदले वो पल, हर पल को ले जाता हैं।।

-प्रान्जल जोशी।

10 Comments

  1. C.M. Sharma babucm 23/03/2017
    • Pranjal Joshi 23/03/2017
  2. mani mani 23/03/2017
    • Pranjal Joshi 23/03/2017
  3. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 23/03/2017
    • Pranjal Joshi 23/03/2017
  4. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 23/03/2017
    • Pranjal Joshi 23/03/2017
  5. Kajalsoni 23/03/2017
    • Pranjal Joshi 23/03/2017

Leave a Reply