मदद – अनु महेश्वरी

यह सच है आए थे हम खाली हाथ
और जाएंगे भी हम खाली हाथ
पर है काबिलीयत अगर किसी मे
नेक तरीके से अधिक धन
अर्जन करने में हर्ज़ कैसा?

कमाना ज़रुरत से ज़्यादा गलत नहीं होता है
अगर इस धन से किसी का भी भला होता है
अधिक धन गलत तब बन जाए
अगर यह ज़रूरतमंद के काम न आए।

अधीक कमाने में गुरेज़ न करो
पर कमाकर धन को जमा न करो
जन कल्याण में इसे इस्तेमाल करे
इस तरह अभावग्रस्त की मदद करे।

जैसे घरा हो खाली अगर
किसी की प्यास बुझ नहीं सकती
वैसे ही पास में कुछ नहीं अगर
किसी की मदद हो नहीं सकती।।

 

अनु महेश्वरी
चेन्नई

15 Comments

  1. Madhu tiwari Madhu tiwari 10/02/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 11/02/2017
  2. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 10/02/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 11/02/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 12/02/2017
  3. babucm babucm 11/02/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 12/02/2017
  4. mani mani 12/02/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 12/02/2017
  5. mani mani 12/02/2017
  6. Kajalsoni 13/02/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 22/02/2017
  7. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 14/02/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 22/02/2017

Leave a Reply