बिटिया तेरी क्या जिंदगी क्या तेरी प्रशंसा.. ~गुरसेवक सिंह पवार जाखल

बिटिया तेरी क्या जिंदगी क्या तेरी प्रशंसा,
तेरा जन्म न होने देते लोग हमारे देखो,
कहते है बेटा हो जाए, वरना ठोकर मारे हमको,
अगर तुमको कोई ले आए, पर नीचे रखते तुमको !!
आगे न बढ़ पाए ये बस, इसे पराया धन समझो,
पराया धन समझ तुझको, कहते लक्ष्मी हमे धन दो !!
बिटिया तेरी क्या जिंदगी क्या तेरी प्रशंसा,
आँखों में लिए फिरती तू कई अधूरी मंशा,
गुरसेवक लिखता रहता, बस तेरी ही एक अंशा,
अरे बिटिया तेरी क्या जिंदगी क्या तेरी प्रशंसा !!
~गुरसेवक सिंह पवार जाखल

4 Comments

  1. C.M. Sharma babucm 09/02/2017
  2. gursevak singh pawar jakhal guirsevak 10/02/2017
  3. Kajalsoni 10/02/2017
    • gursevak singh pawar jakhal guirsevak 11/02/2017

Leave a Reply