सच का सामना – अनु महेश्वरी

कभी कभी सच को देख
आँखे बंद कर लेते हम
सच का सामना करना
क्या मुश्किल है बहुत?
या फिर हम सच्चाई
देखना ही नहीं चाहते?
अक्सर अपने ख्यालो में
हम दुनिया की एक तस्वीर बना लेते है
वैसी ही दुनिया फिर हम देखना चाहते है
पर क्या आँखे मूंद लेने से ही
सच्चाई बदल जाएगी
या फिर है जैसी
यह दुनिया वैसी
ही रह जाएगी
अगर कुछ ठीक नहीं है
उसे बदलने की कोशिश करे
नेक है अगर इरादे
सच है आपके वायदे
तब लोग भी साथ निभाएंगे
रास्तो की मुश्किलें भी
फिर छोटी नज़र आएगी
औरो की लगाई अड़चने भी
फिर आपको रोक न पाएगी।

 
अनु महेश्वरी
चेन्नई

12 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 31/01/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 31/01/2017
  2. babucm babucm 31/01/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 31/01/2017
  3. mani mani 01/02/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 01/02/2017
  4. Madhu tiwari Madhu tiwari 01/02/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 01/02/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 10/02/2017
  5. Kajalsoni 03/02/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 10/02/2017

Leave a Reply