‘वंदे मातरम’ ….सी. एम्.शर्मा (बब्बू)….

हो हरियाली,शान्ति,खुशहाली का संगम हर ओर…
हर मन नाचे, झूमें, गाये हो भाव विभोर..
जन,गन,मन की लय पे बच्चा,बूढा और किशोर..
वंदे मातरम से ध्वनित हो नभ,जल, भू का हर छोर..

गणतंत्रता दिवस की हार्दिक शभकामनायें……

\
/सी. एम्.शर्मा (बब्बू)….

6 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 29/01/2017
    • C.M. Sharma babucm 30/01/2017
  2. mani mani 29/01/2017
    • C.M. Sharma babucm 30/01/2017
  3. Meena Bhardwaj Meena Bhardwaj 30/01/2017
    • C.M. Sharma babucm 31/01/2017

Leave a Reply