४९. सनम तुम आ जाओ…………….|गीत| “मनोज कुमार”

सनम तुम आ जाओ सजन तुम आ जाओ………..२
अभी तुम तोड़ के बंदिश, सभी तुम छोड़ के रंजिश
सनम तुम आ जाओ सजन तुम आ जाओ………..२

इकरार हुआ है तुमसे तुमसे प्यार हुआ
जीना हुआ है मुश्किल जब से प्यार हुआ
लिया जो कर गुनाह हमने, गुनाह का साथ दे जाओ
सनम तुम आ जाओ सजन तुम आ जाओ………..२

तुम्हीं को पूजा है हमने तुम्हीं को चाहा है
तुम्हीं से बन्धन है जन्मों जन्मों का नाता है
तमन्ना हो हमारी तुम बाँहों में आ जाओ
सनम तुम आ जाओ सजन तुम आ जाओ………..२

तुम मीत हो दिल के तुम पे कुर्बान हुआ
ये पहली बार नही यही सौ बार हुआ
अब तो भूल पाना मुश्किल भुलाने आ जाओ
सनम तुम आ जाओ सजन तुम आ जाओ………..२

सनम हाथ में दे दो ना हाथ तुम्हारा है
अब रैन कटे कैसे इंतजार तुम्हारा है
आहटें अपनी एक बार सुनाने आ जाओ
सनम तुम आ जाओ सजन तुम आ जाओ………..२

“मनोज कुमार”

8 Comments

  1. Madhu tiwari Madhu tiwari 18/01/2017
    • MANOJ KUMAR MANOJ KUMAR 20/05/2017
    • MANOJ KUMAR MANOJ KUMAR 20/05/2017
  2. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 18/01/2017
    • MANOJ KUMAR MANOJ KUMAR 20/05/2017
  3. babucm babucm 19/01/2017
    • MANOJ KUMAR MANOJ KUMAR 20/05/2017

Leave a Reply