हे माता महामाया—मधु तिवारी

हे माता महामाया, आशीष की दे दे छाया
संवर गया है उसका जीवन, तेरी शरण मे जो भी आया
हे माता महामाया, आशीष की दे दे छाया

मेरे देश औऱ दुनिया की,दुख को दूर कर दो
मेरा औऱ सभी का ही,आशीष से झोली भर दो
सुनते हैं यहाँ जिसने भी, जो मांगा सो पाया
हे माता………….

मन ये मेरा औऱ सभी का,हो जाए निर्मल पावन
सदा ही बरसे इसमें मां,प्रेम भरा रिमझिम सावन
कर सकती हो क्षण मे वो,जो भी तुझको भाया
हे माता…………..

मधु तिवारी

14 Comments

  1. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 11/01/2017
  2. Madhu tiwari Madhu tiwari 11/01/2017
  3. babucm babucm 11/01/2017
  4. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 11/01/2017
    • Madhu tiwari Madhu tiwari 11/01/2017
  5. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 11/01/2017
  6. Meena Bhardwaj Meena Bhardwaj 12/01/2017
    • Madhu tiwari Madhu tiwari 12/01/2017
    • Meena Bhardwaj Meena Bhardwaj 13/01/2017
  7. sumit jain sumit jain 12/01/2017
    • Madhu tiwari Madhu tiwari 13/01/2017

Leave a Reply