जग मे मिलेगा बहुत ही मान

अरे नादान
तु क्यो हो रहा है हैवान
तुझे क्या चाहिये
अब तो बन तु इंसान
पाप-पुण्य का ज्ञान नही तुझे
मानुष होकर हुआ बेईमान
जीवन व्यर्थ गवाया तूने
कभी न जपा मुख से भगवान
अभी भी है समय बाकी
छोड दे तु ये सब अभिमान
सुबह शाम तु ईश्वर को जप ले
निकल जायेगा मन का अज्ञान
कृष्ण सैनी दिल से कहता
जग मे मिलेगा बहुत ही मान

12 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 30/12/2016
  2. कृष्ण सैनी कृष्ण सैनी 30/12/2016
  3. Meena Bhardwaj Meena Bhardwaj 30/12/2016
  4. कृष्ण सैनी कृष्ण सैनी 30/12/2016
  5. कृष्ण सैनी कृष्ण सैनी 30/12/2016
  6. Madhu tiwari Madhu tiwari 30/12/2016
    • कृष्ण सैनी कृष्ण सैनी 30/12/2016
  7. C.M. Sharma babucm 30/12/2016
    • कृष्ण सैनी कृष्ण सैनी 30/12/2016
  8. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 30/12/2016
  9. कृष्ण सैनी कृष्ण सैनी 30/12/2016

Leave a Reply