एक पथ और — डी के निवातिया

आओ चले एक पथ और
छोड़ पदचिन्ह एक छोर !
नई उमंग ह्रदय धरे भोर
कनखियों में ख़ुशी का शोर !
आओ चले एक पथ और !!

!
!

डी के निवातिया ____!!!

18 Comments

  1. Manjusha Manjusha 29/12/2016
    • निवातियाँ डी. के. निवातियाँ डी. के. 04/01/2017
  2. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 29/12/2016
    • निवातियाँ डी. के. निवातियाँ डी. के. 04/01/2017
  3. कृष्ण सैनी krishan saini 29/12/2016
    • निवातियाँ डी. के. निवातियाँ डी. के. 04/01/2017
  4. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 29/12/2016
    • निवातियाँ डी. के. निवातियाँ डी. के. 04/01/2017
  5. babucm babucm 30/12/2016
    • निवातियाँ डी. के. निवातियाँ डी. के. 04/01/2017
  6. mani mani 30/12/2016
    • निवातियाँ डी. के. निवातियाँ डी. के. 04/01/2017
  7. Madhu tiwari Madhu tiwari 30/12/2016
    • निवातियाँ डी. के. निवातियाँ डी. के. 04/01/2017
  8. Meena Bhardwaj Meena Bhardwaj 30/12/2016
    • निवातियाँ डी. के. निवातियाँ डी. के. 04/01/2017
    • निवातियाँ डी. के. निवातियाँ डी. के. 04/01/2017

Leave a Reply