भारत की बेटियाँ

जिसने भारत की दिव्यता की प्रखर शक्ति बढायी
परतंत्रता की संकट में अटूट भक्ति दिखायी
जिनके अप्रतिम शौर्य धैर्य से मिली स्वाधीनता की रोटियाँ
आज स्वाधीन हम कहाँ ? और न ही भारत की बेटियाँ !

© कवि आलोक पान्डेय

6 Comments

  1. babucm babucm 20/12/2016
  2. mani mani 20/12/2016
  3. निवातियाँ डी. के. निवातियाँ डी. के. 20/12/2016
  4. Meena Bhardwaj Meena Bhardwaj 20/12/2016
  5. आलोक पान्डेय आलोक पान्डेय 20/12/2016

Leave a Reply