ग़ज़ल-आगोश में अपने तू भर ले ऐ सनम-मनिंदर सिंह “मनी”

आगोश में अपने तू भर ले ऐ सनम,
तू आज मुझ से इश्क कर ले ऐ सनम,

हर एक ख्वाहिश कर मुकम्मल आज तू,
खुद को फ़िदा मुझ पर तू कर ले ऐ सनम,

गुजरा समां शिकवो में पल, पल कर यूँ ही,
सब भूल कर दोनों ख़ुशी भर ले ऐ सनम,

कुछ कह न नज़रो से गुफ्तगू कर ले तू,
दिल को नरम तू अपने कर ले ऐ सनम,

है जिंदगी थक सी गयी, तेरे बिना,
फिर से मुझे अम्लान कर ले ऐ सनम,,

मनिंदर सिंह “मनी”

अम्लान-ताज़ा,

15 Comments

  1. C.M. Sharma babucm 18/12/2016
  2. C.M. Sharma babucm 18/12/2016
    • mani mani 19/12/2016
  3. mani mani 19/12/2016
  4. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 19/12/2016
    • mani mani 19/12/2016
  5. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 19/12/2016
    • mani mani 21/12/2016
    • mani mani 21/12/2016
  6. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 19/12/2016
    • mani mani 21/12/2016
  7. Meena Bhardwaj Meena Bhardwaj 20/12/2016
  8. आलोक पान्डेय आलोक पान्डेय 20/12/2016
    • mani mani 21/12/2016

Leave a Reply