शक्ति – शिशिर मधुकर

कभी सोचा ना था जीवन में ऐसे दिन भी आएँगे
भीड़ के बीच में भी खुद को हम तन्हा ही पाएँगे
जो शक्ति नहीँ मिलेगी किसी भी कोने से हमको
जिम्मेदारियां सभी जीवन की हम कैसे निभाएँगे

शिशिर मधुकर

6 Comments

  1. M Sarvadnya M Sarvadnya 14/12/2016
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 15/12/2016
  2. babucm babucm 14/12/2016
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 15/12/2016
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 16/12/2016

Leave a Reply