मेरे हर दर्द की ,तू ही एक दवा है…(Part-1)–पियुष राज

मेरे हर दर्द की ,तू ही एक दवा है…
Part-1
चाहे क्यों ना दे ये दुनिया
कितने भी जख्म मुझे
मुझसे जुदा नहीँ कर सकता
कोई भी तुझे
ये छोटे-मोटे जख्म तो
हमारे मोहब्बत के गवाह है
बस एक ही गुजारिश है तुझसे
दिल तोड़ कर ना जाना कभी
क्योकि मेरे हर दर्द की तो
बस तू ही एक दवा है…
©पियुष राज,दुमका,झारखण्ड ।

10/12/2016 Mob_9771692835
#spiyush

5 Comments

  1. mani mani 12/12/2016
  2. C.M. Sharma babucm 12/12/2016
  3. पियुष राज पियुष राज 12/12/2016
  4. पियुष राज पियुष राज 12/12/2016
  5. Rushikesh 14/12/2016

Leave a Reply