आँखे भर

जब हम खुद मौत से सौदा कर चुके होंगे,
हर साँस के साथ तुझे तौबा कर चके होंगे,
ये सच हैं तू भी आओगी एक दिन इसी गली,
लेक़ि ज़माने की तब हम आँखे भर चुके होंगे।।