तेरा करम – शिशिर मधुकर

इस जीवन के हर क्षण में तुम्हें हम याद करते हैं
तेरे आगोश के अहसास चाह कर भी ना मरते है
तेरा करम होता है जब भी ऐ मेरे सनम मुझ पर
सर्द मौसम में मानो धरती पर हरसिंगार झरते हैं

शिशिर मधुकर

4 Comments

  1. mani mani 02/12/2016
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 02/12/2016
  2. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 02/12/2016
  3. babucm babucm 02/12/2016

Leave a Reply