शगूफा

हर रोज़ कोई शगूफा नया चाहिए
अच्छा हो या बुरा पर नया चाहिए
ऊब जाते है लोग एक ही खबर से
बाजार में मसाला रोज़ नया चाहिए !!
!
!
!
डी. के. निवातिया

8 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 05/12/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 06/12/2016
  2. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 05/12/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 06/12/2016
  3. babucm babucm 05/12/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 06/12/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 06/12/2016

Leave a Reply