तुम मिले ज़िन्दगी मिली जैसे…..सी.एम्. शर्मा (बब्बू)…

तुम मिले ज़िन्दगी मिली जैसे….
इक हक़ीक़त मिल गयी जैसे….

था अंधेरों में भटकता मैं…
तुम मिले रौशनी मिली जैसे….

इस कदर प्यारा सरूर भरा…
तेरा चेहरा मयकशी जैसे…

दिल पुकारे तुझे इस तरह से…
सांसें हों दाँव पे लगी जैसे…..

रात आँखों में है कटती मेरी…
सुबह मिलके तुझे आएगी जैसे…

आ के आने में क्यूँ है देर करि…
ज़िन्दगी बोझ बन रही जैसे…

तेरे चेहरे पे है नूरे खुदा….
इक रूहानियत हो मिली जैसे….

राह देखूँ या संवारूं खुद को…
“बब्बू” किस्मत में बेबसी जैसे…
\
/सी.एम्. शर्मा (बब्बू)

14 Comments

  1. mani mani 21/11/2016
    • C.M. Sharma babucm 21/11/2016
    • C.M. Sharma babucm 21/11/2016
  2. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 21/11/2016
    • C.M. Sharma babucm 21/11/2016
  3. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 22/11/2016
    • C.M. Sharma babucm 22/11/2016
  4. kiran kapur gulati kiran kapur gulati 22/11/2016
    • C.M. Sharma babucm 22/11/2016
  5. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 22/11/2016
    • C.M. Sharma babucm 24/11/2016
  6. Meena Bhardwaj Meena Bhardwaj 22/11/2016
    • C.M. Sharma babucm 24/11/2016

Leave a Reply