काश अगर ऐसा हो जाए…

काश अगर ऐसा हो जाए,
एक नया अधिनियम पास हो जाए,
चौबीस घंटों के निश्चित अंतराल में,
सबको अपने दुखों को बैंक में जमा कराना है,
और इसके बदले में खुशियां लेकर जाना है,
अच्छा कर्म आधार नंबर है,जिसको वहाँ दिखाना है,
भ्रष्टाचार, छल कपट, अन्याय है काला धन,
जिसने भी इसको अपनाया है,
वो अबैध घोषित कर दिया जाएगा,
और भारी जुर्माने के साथ साथ,
वह कठोर दण्ड भी पायेगा,
इस धरती पर सिर्फ और सिर्फ,
ईमानदार, मेहनती, सच्चा इंसान ही,
सुकूँ और सुख के साथ रह पाएगा।।
By: Dr Swati Gupta

9 Comments

  1. babucm babucm 13/11/2016
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 13/11/2016
  2. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 13/11/2016
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 15/11/2016
  3. डॉ. विवेक डॉ. विवेक 15/11/2016
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 15/11/2016
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 15/11/2016
  4. Savita Verma 15/11/2016

Leave a Reply