आज मैं काफी अमीर हूँ

परसों जब से मोदी जी ने ,
पांच सौ और हजार के नोटों को ,
रद्द करने का फरमान जारी किया है ,
लोग एक ब एक गरीब नजर आने लगें हैं ,
केवल मुझको छोड़ कर क्योकि ,
आज मैं काफी अमीर हूँ।

कारण है मेरे रंग बिरंगे बैग ,
आप सोच रहे होंगे कि ,
कल तक जिन बैग में मुझे ,
बुराई ही बुराई नजर आती थी ,
आज उनके गुणगान कैसे कर रहीं हूँ।

तो जब कभी दोस्त या निकट संबंधी ,
कहीं देश विदेश घूमने जाता है ,
तो उनके पूछने पर मैं हैण्ड बैग ,
या पर्स की ही  फरमाइश करतीं हूँ ,
जिसका नतीजा है मेरे पास दर्जनों,
अलग अलग रंग और आकार के बैग्स हैं ।

तो जब कभी भी मैं बाहर निकलतीं हूँ ,

अपने कपड़ों से मैचिंग बैग निकाल लेती हूँ ,
और दो तीन सौ के कुछ चिल्लर ,
उस बैग में जरूर डाल देती हूँ रास्ते में ,
ठेले पर मिलने वाले अमरुद या ,
मूँगफली खरीदने के लिए ।

इस तरह मैं अपने सारे बैग्स को खगालूँ ,
तो मैं अच्छी खासी अमीर हो सकती हूँ ,
अभी तो मैंने आधे भी नहीं देखे,हैं ,
जाड़े के कोट और स्वेटर के पाकेट्स ,
भी तो अभी बाकी है ,हाँ इसीलिए ,

आज की तारीख में ,मैं काफी अमीर हूँ।

8 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 10/11/2016
    • Manjusha Manjusha 10/11/2016
  2. babucm babucm 10/11/2016
    • Manjusha Manjusha 11/11/2016
  3. Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 11/11/2016
    • Manjusha Manjusha 11/11/2016
  4. निवातियाँ डी. के. निवातियाँ डी. के. 11/11/2016
    • Manjusha Manjusha 11/11/2016

Leave a Reply