ये क्या हो गया…..मनिंदर सिंह “मनी”

अजी साहब,
ये क्या हो गया,
रातों रात,
कमाल हो गया,
सुबह होते ही,
अमीर गरीब हो गया,
अमीर सोया ही नहीं,
रात भर,
गरीब चैन की नींद सो गया,
जमा किये घरो में,
दुकानों में, गोदामो में,
लाखो रुपए,
सब रद्दी हो गया,
आतंकी, कालाबाज़ारी,
प्रॉपर्टी वाले सोचे,
ये क्या सितम हो गया,
अच्छे दिनों की तरफ,
भारत का पहला कदम हो गया,
पांच सौ, दो हजार के,
नोटों का चलन हो गया,
लगा दी चिप नोटों में,
पैसा भी,
इलेक्ट्रॉनिक हो गया,
चाहे छुपा लेना,
जमी के नीचे,
सब लग जायेगा पता,
हर नोट चिप वाला हो गया,
अब ना बढ़ेंगे रेट,
ना होगा कुछ भी महँगा,
काले धन वाले से,
अमीर सफ़ेद पैसे वाला हो गया,
अजी साहब………

मनिंदर सिंह “मनी”

22 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 09/11/2016
    • mani mani 09/11/2016
  2. babucm babucm 09/11/2016
    • mani mani 09/11/2016
  3. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 09/11/2016
    • mani mani 09/11/2016
  4. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 09/11/2016
    • mani mani 09/11/2016
  5. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 09/11/2016
    • mani mani 09/11/2016
  6. निवातियाँ डी. के. निवातियाँ डी. के. 09/11/2016
    • mani mani 10/11/2016
  7. Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 09/11/2016
    • mani mani 10/11/2016
  8. MANOJ KUMAR MANOJ KUMAR 10/11/2016
    • mani mani 10/11/2016
    • mani mani 10/11/2016
  9. Meena Bhardwaj Meena Bhardwaj 10/11/2016
    • mani mani 11/11/2016
  10. Manjusha Manjusha 10/11/2016
    • mani mani 11/11/2016

Leave a Reply