हमारा रविवार??

पतिदेव थे मूड में एक दिन,
हमसे आकार के वो बोले,
प्रिय सुनो जरा बात हमारी,
दिन भर करती हो काम तुम,
थोड़ा सा आराम फरमा लो,
संडे का दिन है आज,
जो भी खाना है हमे बता दो,
आज किचन में तुम्हारी छुट्टी है,
टीवी का रिमोट ये ले लो,
जो भी मर्जी हो, वो तुम देखो,
हमारी ख़ुशी का रहा न ठिकाना,
जैसे ही हमने टीवी खोला,
किचन से उन्होंने आवाज़ लगायी,
सब्जी में कितना नमक पड़ेगा,
जरा आकर यहाँ हमे बताना,
पराठे कैसे बनाते हैं,
थोड़ा सा ये भी समझाना,
समझाकर जैसे ही हम बाहर आये,
मसाले सारे नीचे गिरने की आवाज़ आयी,
किचन में जाकर जब हमने देखा,
हमारा हो गया पारा हाई,
सामान सारा हो गया अस्त व्यस्त था,
खाने का न अता पता था,
गुस्से से हमने उनको किचन से बाहर निकाला,
और खुद से कसम ये खायी,
पति की मीठी बातों में न आएंगे,
आज के बाद खाना खुद ही बनाएंगे।।
By: Dr Swati Gupta

16 Comments

  1. mani mani 06/11/2016
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 07/11/2016
  2. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 06/11/2016
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 07/11/2016
      • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 07/11/2016
      • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 07/11/2016
  3. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 06/11/2016
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 07/11/2016
  4. babucm babucm 06/11/2016
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 07/11/2016
      • babucm babucm 07/11/2016
        • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 07/11/2016
  5. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 07/11/2016
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 07/11/2016
  6. MANOJ KUMAR MANOJ KUMAR 10/11/2016

Leave a Reply