चंद मोहलत

हम रहें न रहें, इस जहाँ में,
पर सबकी यादों में जिन्दा रह जाएं,
कर्म ऐसे हो हमारे, कि हमको चाहने वाले,
हर बात में हमारा जिक्र लाएं,
इस धरा पर हँसी के ठहाके छोड़ जाये,
लोग जब रोएं हमे याद करके,
तो हमारी मुस्कान को याद करके मुस्कुराएं,
मरना तो सभी को है यहाँ पर,
बस सबके दिलों में जिन्दा रह जाएं,
जब तक अपने निर्भर हैं हम पर,
तब तक धड़कन चलती रहे दिल की,
जब तक वो आत्म निर्भर न बन जाएं,
बिनती यही है अपने खुदा से मेरी,
मेरी साँसों को चंद मोहलत मिल जाए,
ताकि अपनों की जिंदगी को हम रोशन कर जाएँ।।
By:Dr Swati Gupta

15 Comments

  1. babucm babucm 02/11/2016
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 03/11/2016
  2. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 02/11/2016
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 03/11/2016
  3. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 02/11/2016
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 03/11/2016
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 03/11/2016
  4. डॉ. विवेक डॉ. विवेक 02/11/2016
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 03/11/2016
  5. MANOJ KUMAR MANOJ KUMAR 02/11/2016
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 03/11/2016
  6. mani mani 03/11/2016
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 03/11/2016
  7. निवातियाँ डी. के. निवातियाँ डी. के. 03/11/2016
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 03/11/2016

Leave a Reply