मेरी तलाश, मेरा इंतज़ार हो सनम तुम……….मनिंदर सिंह “मनी”

मेरा प्यार मेरा इकरार हो सनम तुम,
मेरी तलाश, मेरा इंतज़ार हो सनम तुम,,

पाया तुझे जुस्तजू के बाद हमसफ़र मेरे,
मेरा वजूद मेरा इजहार हो सनम तुम,

न रोक आज मुझ को कह ने दे सभी से,
मेरा मनन, मेरे ही दिलदार हो सनम तुम,,

दे देने दे मुझे कोई नाम अपने रिश्ते को,
मेरी ख़ुशी मेरी जीती हार हो सनम तुम,,

कुछ और है नहीं, अब उम्मीद रब से मुझ को,
मेरे हमसफ़र, मेरे दिलदार हो सनम तुम,,

मनिंदर सिंह “मनी”

14 Comments

  1. Saviakna Savita Verma 31/10/2016
    • mani mani 01/11/2016
  2. डॉ. विवेक डॉ. विवेक 31/10/2016
    • mani mani 01/11/2016
  3. Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 31/10/2016
    • mani mani 01/11/2016
  4. C.M. Sharma babucm 01/11/2016
    • mani mani 01/11/2016
  5. MANOJ KUMAR MANOJ KUMAR 02/11/2016
    • mani mani 02/11/2016
  6. Meena Bhardwaj Meena Bhardwaj 02/11/2016
    • mani mani 02/11/2016
  7. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 02/11/2016
    • mani mani 02/11/2016

Leave a Reply