प्यार के दीप

गीत गाये सब दीपावली का त्यौहार है
चारों तरफ खुशी मिलते सह परिवार है
चमक ऐसी रोशनी की नजर न हटती
प्रेम का ये उजाला हर बुराई की हार है
जलते रहें खुशियों के प्यारे यह दीप
मोती भरकर प्यार के मिले सबको सीप
जीवन में नयी उमग लाये प्यारी दीपावली
सभी के मन में बनके रहे प्‍यार के प्रदीप
_____________अभिषेक शर्मा अभि

 

14601113_978038788974101_5841335928893251159_n

4 Comments

  1. C.M. Sharma babucm 30/10/2016
  2. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 31/10/2016
  3. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 31/10/2016
  4. MANOJ KUMAR MANOJ KUMAR 02/11/2016

Leave a Reply