स्वदेशी अपनाये ,दिवाली मनाये

भारतीय संस्कृति का पर्व है भारतीय त्यौहारl
जगमग दीप जलाकर रोशन करे घर-बाहरll
भीनी-भीनी मिट्टी लेकर आओ दीप बनाये l
दीपो की इन मालाओ से घर-आँगन सजाएँ ll

चावल,हल्दी और रोली से रंगोली हम सजाएँ l
लक्ष्मी जी को आने का निमंत्रण हम दे आये ll
दिवाली है  ख़ुशी का पर्व  खुशियां हम फैलाये l
भारत में ही निर्मित स्वदेशी वस्तुऍ अपनाये ll

चीन का ये पर्व नहीं ,   भारतीय पर्व है भाई l
फिर कैसे चाइना ने , बाज़ारो  में सेंध लगाईll
मिलकर करो बहिष्कार न ले चाइना सामान l
अपना पैसा यही रहे बस लो तुम अब ये ठान ll

भारत का  पैसा जब  भारत में ही रह  जायेगा l
तभी भारत अपने को और मजबूत कर पायेगा ll
आओ मिलकर प्रण लें हम स्वदेशी ही अपनायेl
हर गरीब के घर खुशियों के दीप झिलमिलाये ll
———————

12 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 25/10/2016
    • Rajeev Gupta Rajeev Gupta 25/10/2016
  2. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 25/10/2016
    • Rajeev Gupta Rajeev Gupta 26/10/2016
  3. babucm babucm 25/10/2016
    • Rajeev Gupta Rajeev Gupta 26/10/2016
  4. sarvajit singh sarvajit singh 26/10/2016
    • Rajeev Gupta Rajeev Gupta 26/10/2016
    • Rajeev Gupta Rajeev Gupta 26/10/2016
  5. Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 26/10/2016
  6. Kajalsoni 27/10/2016

Leave a Reply