वो दिन कितने अच्छे थे.

वो दिन कितने अच्छे थे,
जब हम छोटे बच्चे थे,
गिरते थे जब भी हम,
तब तक रोते रहते थे,
जब तक कोई उठा न ले,
गोदी में अपनी बैठा न ले,
लेकिन अब जब भी हम गिरते हैं,
चारों ओर नजर घुमाते है,
कोई हमको देख न ले,
जल्दी से उठ जाते हैं,
चाहें चोट कितनी भी हो,
आँसू अपने पी जाते हैं,
अपने दर्द को चुपचाप हम,
दुनियां से छिपा जाते हैं,
इसलिए बार बार उन दिनों को,
याद करके मुस्कुराते हैं,
जब हम छोटे बच्चे थे।।
By:Dr Swati Gupta

14 Comments

  1. डॉ. विवेक डॉ. विवेक 25/10/2016
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 26/10/2016
  2. Rajeev Gupta Rajeev Gupta 25/10/2016
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 26/10/2016
  3. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 25/10/2016
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 26/10/2016
  4. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 25/10/2016
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 26/10/2016
  5. C.M. Sharma babucm 25/10/2016
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 26/10/2016
  6. sarvajit singh sarvajit singh 26/10/2016
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 26/10/2016
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 26/10/2016

Leave a Reply