३८. बार बार दिखता जो……………….|भजन| “मनोज कुमार”

891_rama-wallpaper-2

बार बार दिखता जो मन्दिर ओ प्यारा

ऐसा सुन्दर तीरथ अयोध्या हमारा
बार बार…………………………….. अयोध्या हमारा

त्रिभुवन के राम मेरे मन का आराम है
जब भी जहाँ देखूँ घट घट में राम है
सरयू का घाट सुन्दर प्यारा नजारा
एक बार बोलो श्रीराम का जयकारा

बार बार…………………………….. अयोध्या हमारा

ह्रदय की नगरी में राम को बसाइये
उसकी ही धुन में तुम राम गुन गाइये
और किसी से नही है नाता हमारा
अमोघ शक्ति राम है राम हमारा

बार बार…………………………….. अयोध्या हमारा

महिमा है राम की जो हम तुम यहाँ हैं
बिना प्रभु इच्छा के कुछ ना यहाँ है
अपना बनाया जिसे जग ने ठुकराया
जाये जो शरण उसकी खाली ना आया

बार बार…………………………….. अयोध्या हमारा

चलिये अयोध्या वहाँ सीताजी राम है
संग में है लक्ष्मण और सेवक हनुमान है
करलो तुम वंदना आ जाये ना बुलावा
सुख दुःख का परिणाम इक राम सहारा

बार बार…………………………….. अयोध्या हमारा

“मनोज कुमार”

6 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 23/10/2016
    • MANOJ KUMAR MANOJ KUMAR 23/10/2016
  2. C.M. Sharma babucm 23/10/2016
    • MANOJ KUMAR MANOJ KUMAR 28/10/2016
  3. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 24/10/2016
    • MANOJ KUMAR MANOJ KUMAR 28/10/2016

Leave a Reply