आँखों को सताती तुम्हारी आखें “” “”सविता वर्मा

  • क्या कहती हैं मुझसे तुम्हारी आखें
    क्या ढुढ़ती है मुझमें तुम्हारी आखें
    कुछ इशारा तो दो
    जिससे ये उलझन सुलझे
    कभी लगता है प्रश्न करती है तुम्हारी आखें
    कभी लगता है कुछ सुनाती है तुम्हारी आखें
    फिर लगता है यू ही
    अजनबी सी है तुम्हारी आखें
    कभी चाहती सी, कभी भागती सी
    कभी उलझती सी, कभी झांकती सी
    है तुम्हारी आखें……….

19 Comments

  1. C.M. Sharma babucm 25/10/2016
  2. Saviakna Savita Verma 25/10/2016
  3. Rajeev Gupta Rajeev Gupta 25/10/2016
    • Saviakna Saviakna 31/10/2016
  4. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 25/10/2016
    • Saviakna Saviakna 31/10/2016
  5. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 25/10/2016
    • Saviakna Saviakna 31/10/2016
    • Saviakna Saviakna 31/10/2016
  6. डॉ. विवेक डॉ. विवेक 26/10/2016
    • Saviakna Saviakna 31/10/2016
  7. sarvajit singh sarvajit singh 26/10/2016
    • Saviakna Saviakna 31/10/2016
  8. Kajalsoni 27/10/2016
    • Saviakna Saviakna 31/10/2016
  9. mani mani 27/10/2016
    • Saviakna Saviakna 31/10/2016

Leave a Reply