होने का एहसास – शिशिर मधुकर

होने का एहसास – शिशिर मधुकर

भूलना तो कभी उसको भी ना रास आया है
जिस मालिक ने इस पूरी सॄष्टि को बनाया है
अपने होने का सदा एहसास कराने के लिए
अपने बन्दो को भी उसने यहाँ पे रूलाया है

शिशिर मधुकर

8 Comments

  1. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 20/10/2016
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 21/10/2016
  2. Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 20/10/2016
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 21/10/2016
  3. C.M. Sharma babucm 20/10/2016
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 21/10/2016
  4. mani mani 21/10/2016
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 21/10/2016

Leave a Reply