” गर्लफ्रेंड चालीसा” …. काजल सोनी

जय हो जय हो गर्लफ्रेंड रानी,
तेरा सताया मांगे न पानी ।

जब जब तुम मिलने हो आती,
अपने आशिक का बैंड बजाती ।

समोसा भजिया न तुम को भावे,
पिज्जा बर्गर का भोग लगावे ।

ऊंची हिल की तेरी सैंडल,
जाने कितनो को करती हैंडल ।

हर धुन में है आज तेरा गाना ,
बच्चे बुढे सब ढूंढें तेरा ठिकाना ।

गर्लफ्रेंड अढैया जिस जिस पे छाये ,
राजा फिर वो रंक हो जावे ।

गार्डन सिनेमाघर में हो तुम दिखती ,
आगे पीछे दिखते करते हुये तेरी भक्ति ।

मोबाइल गिफ्ट करते तुझ पर अर्पण,
पढ़ाई लिखाई सब तुम पर समर्पण ।

बिन तेरे किसी को चैन न आवे,
पाकर तुझको सब, खुब शीश नवावे

गर्लफ्रेंड चालीसा सब सुख से गावे,
भले बाद में खुब पछतावे ।

कहत “काजल सोनी” बात तुम्हारी ,
कडवा लड्डू पहले लगती अति प्यारी ।

“काजल सोनी “

25 Comments

  1. shrija kumari shrija kumari 18/10/2016
    • Kajalsoni 18/10/2016
  2. डॉ. विवेक डॉ. विवेक 18/10/2016
    • Kajalsoni 18/10/2016
  3. babucm babucm 18/10/2016
    • Kajalsoni 18/10/2016
  4. Manjusha Manjusha 18/10/2016
    • Kajalsoni 18/10/2016
  5. ALKA ALKA 18/10/2016
    • Kajalsoni 18/10/2016
  6. Meena Bhardwaj Meena Bhardwaj 18/10/2016
    • Kajalsoni 18/10/2016
  7. mani mani 18/10/2016
    • Kajalsoni 18/10/2016
  8. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 18/10/2016
    • Kajalsoni 19/10/2016
  9. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 18/10/2016
    • Kajalsoni 19/10/2016
  10. Prince Seth Prince Seth 19/10/2016
  11. Kajalsoni 19/10/2016
  12. Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 19/10/2016
  13. Kajalsoni 21/10/2016
  14. vijaykr811 विजय कुमार 24/10/2016
  15. Kajalsoni 27/10/2016

Leave a Reply