मेरा ठिकाना-5—मुक्तक—डी के निवातियाँ

जान लीजिये आज मेरा ठिकाना
आपके संग में है वक़्त बिताना
दिलबरों की नजरो का नूर हूँ मैं
दुश्मनो की नजरो का निशाना !!
!
!
!
@@@__डी के निवातियाँ__@@@

18 Comments

  1. Tushar Gautam Tushar Gautam 17/10/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 20/10/2016
  2. Meena Bhardwaj Meena Bhardwaj 17/10/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 20/10/2016
  3. C.M. Sharma babucm 17/10/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 20/10/2016
  4. डॉ. विवेक डॉ. विवेक 17/10/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 20/10/2016
  5. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 18/10/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 20/10/2016
  6. Kajalsoni 18/10/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 20/10/2016
  7. Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 18/10/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 20/10/2016
  8. mani mani 18/10/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 20/10/2016
  9. आनन्द कुमार ANAND KUMAR 18/10/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 20/10/2016

Leave a Reply