हार-8…सी.एम्. शर्मा (बब्बू)….

हार रहा था मैं….
कोई मुझे नहीं हरा रहा था…
अपने आप से ही हार रहा था….
अजगर की भाँती हार मुंह खोले खड़ी थी…
हर सांस के साथ जैसे अपनी तरफ खींच रही…
सांस लेनी दुश्वार थी…हांफ रहा था मैं….
जैसे मीलों भागा हूँ…
बिना किसी आशा के…परिणाम के…..
निर्जीव…निष्प्राण…निढाल सा हो…
मैं सामने पड़ी कुर्सी पे धम सा गिर पड़ता हूँ….

आँखें बंद…सर धंसा हुआ सा घुटनों में….
रह रह के सर के बालों को यूं खींचता हूँ…
जैसे सब कुछ बाहर फैंक देना चाहता हूँ…
जो मन में चल रहा है….
बवंडर सा विचारों का …
चक्रवात सा जैसे गहरे खींच रहा है….
नीचे को….
हार गया मैं….
अनायास मुंह से निकलता है…
आँखें बंद किये बैठा रहता हूँ…

कुछ देर में आँखें खोलता हूँ…
सामने दीवार पे एक पोस्टर लटका है….
उसपे लिखा है…
“क्या ले कर आये थे जो तुम हार जाओगे…
क्या ले कर यहाँ से जाओगे जो तुम्हारा अपना है”….
मेरी आँखें जैसे उस पे गढ़ से गयी…
बार बार आँखों से पढता हूँ….
फिर बुदबुदाने लगता हूँ…
तेजी से…
फिर जैसे जैसे पढता जाता हूँ….
भाव शब्दों के मन में उतरने लगते हैं….
संजीवनी बन प्राणों में संचार कर रहे हों जैसे….
स्वाति बूँद का सागर प्यासे को मिल गया हो जैसे…
और रोम रोम से मेरे भाव स्फुटित हो रहे हों…खिल रहे हों…
यस….
मैं चिल्ला उठता हूँ…..

सूर्यमुखी के फूल जैसे उसको देखे ही जा रहा हूँ….
धरा जैसे बेवक़्त घूम गयी हो…
सूर्य की रौशनी निकलती नज़र आने लगती है….
प्रकाश की किरणे घने बादलों को चीर रही हैं…
आँखों पे…मन पे…पड़ी परतें…
उधड़ने लगती हैं….
घूंघट के पट धीरे धीरे खुल रहे हैं…
परत-दर-परत बिखरा था जो…
पल में जैसे अपने से जुड़ गया…
बहुत ही हल्का सा लग रहा सब…
ऐसे जैसे कुछ हुआ ही नहीं…
जो पहले सपने जैसा था…
वो वास्तविकता में मेरे सामने था…
“सच में वो दयालु है जिसकी किरपा से धरती थमी है”
कितना पागल हूँ मैं…..
सामने मेरे समाधान था और मैं….
अपने आप से शिकायत कर रहा था….
मैंने बोला था ना “फिर मिलेंगे”….
वही इंसान मुस्कुराता सा मेरे सामने आ जाता है….
लगा जैसे….वो कोई और नहीं…
मैं ही हूँ…
सिर्फ मैं….
\
/सी.एम्. शर्मा (बब्बू)

14 Comments

  1. mani mani 28/09/2016
    • babucm babucm 15/10/2016
  2. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 14/10/2016
    • babucm babucm 15/10/2016
  3. Manjusha Manjusha 14/10/2016
    • babucm babucm 15/10/2016
  4. Meena Bhardwaj Meena Bhardwaj 15/10/2016
    • babucm babucm 16/10/2016
  5. Kajalsoni 16/10/2016
    • babucm babucm 16/10/2016
  6. ALKA ALKA 20/10/2016
    • babucm babucm 20/10/2016
  7. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 22/10/2016
    • babucm babucm 23/10/2016

Leave a Reply