क्या भला तुमने पाया है? – शिशिर मधुकर

ये दिल तुझ से हट गया तो तॆरा चेहरा उदास है
तुझे देने के लिए कुछ भी नहीँ अब मेरे पास है
तेरी चालाकियों ने मुझको जो नीचा दिखाया है
तन्हाई में अब सोचना क्या भला तुमने पाया है
जो किया साथ मेरे कभी और के संग ना करना
सभी कर्मों का फल हमको पड़ता हैं यही भरना
नए जीवन में भी गर तुम यही सब दोहराओगे
मुझको नहीँ उम्मीद कभी मुहब्बत तुम पाओगे.

शिशिर मधुकर

10 Comments

  1. Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 28/09/2016
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 14/10/2016
  2. Markand Dave Markand Dave 28/09/2016
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 14/10/2016
  3. Bindeshwar prasad sharma Bindeshwar prasad sharma (bindu) 28/09/2016
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 14/10/2016
  4. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 14/10/2016
  5. C.M. Sharma babucm 14/10/2016
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 14/10/2016

Leave a Reply