” वाह क्या बात है” ……. काजल सोनी



कुछ अनोखे शब्द जैसे –

………….. वाह………….
किसी को जब ऐसा बोलते हैं ,
अहंकार अपने हम तोड़ते हैं ।
दुसरो का दिल जीतते हैं ,
अपने भी तारीफ के रास्ते खोलते हैं ।

………….. क्या…………..
ये शब्द आते हैं हर बात में ,
पूछने का तरीका आज समाज में ।
बिन इसके सब अधुरा ,
सवाल को ये करती हैं पुरा ।

…………… बात………….
बिन बात किये बात नहीं बनती ,
चुप रहकर न दुनिया चलती ।
पते की बात है सब बताते ,
बात बात में कई बात सुनाते ।

……………. है…………….
है शब्द सुचक जीवन का जैसा ,
बिन इसके बताये है क्यु क्या कैसा ।
वर्तमान को ये बताता ,
है कहता जो साथ निभाता ।।

तो मेरी रचना पढकर सब एक साथ कहे
………… “वाह क्या बात है” ………..

………….. काजल सोनी ……………

???????????

35 Comments

  1. C.M. Sharma babucm 26/09/2016
    • Kajalsoni 27/09/2016
    • Kajalsoni 27/09/2016
  2. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 26/09/2016
    • Kajalsoni 27/09/2016
  3. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 26/09/2016
    • Kajalsoni 27/09/2016
  4. विनोद चन्द्र वर्मा विनोद चन्द्र वर्मा 26/09/2016
    • Kajalsoni 27/09/2016
    • Kajalsoni 27/09/2016
  5. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 26/09/2016
    • Kajalsoni 27/09/2016
  6. Bindeshwar prasad sharma Bindeshwar prasad sharma (bindu) 26/09/2016
    • Kajalsoni 15/10/2016
  7. mani mani 26/09/2016
    • Kajalsoni 27/09/2016
      • Kajalsoni 27/09/2016
        • mani mani 27/09/2016
          • Kajalsoni 27/09/2016
  8. MANOJ KUMAR MANOJ KUMAR 26/09/2016
    • Kajalsoni 27/09/2016
  9. अकिंत कुमार तिवारी 26/09/2016
    • Kajalsoni 27/09/2016
  10. Subhash 26/09/2016
  11. Subhash 26/09/2016
  12. Subhash 26/09/2016
    • Kajalsoni 27/09/2016
    • Kajalsoni 24/10/2016
  13. Meena Bhardwaj Meena Bhardwaj 27/09/2016
    • Kajalsoni 27/09/2016
  14. Manjusha Manjusha 22/10/2016
  15. Markand Dave Markand Dave 24/10/2016
    • Kajalsoni 24/10/2016

Leave a Reply