” वाह क्या बात है” ……. काजल सोनी



कुछ अनोखे शब्द जैसे –

………….. वाह………….
किसी को जब ऐसा बोलते हैं ,
अहंकार अपने हम तोड़ते हैं ।
दुसरो का दिल जीतते हैं ,
अपने भी तारीफ के रास्ते खोलते हैं ।

………….. क्या…………..
ये शब्द आते हैं हर बात में ,
पूछने का तरीका आज समाज में ।
बिन इसके सब अधुरा ,
सवाल को ये करती हैं पुरा ।

…………… बात………….
बिन बात किये बात नहीं बनती ,
चुप रहकर न दुनिया चलती ।
पते की बात है सब बताते ,
बात बात में कई बात सुनाते ।

……………. है…………….
है शब्द सुचक जीवन का जैसा ,
बिन इसके बताये है क्यु क्या कैसा ।
वर्तमान को ये बताता ,
है कहता जो साथ निभाता ।।

तो मेरी रचना पढकर सब एक साथ कहे
………… “वाह क्या बात है” ………..

………….. काजल सोनी ……………

???????????

35 Comments

  1. babucm babucm 26/09/2016
    • Kajalsoni 27/09/2016
    • Kajalsoni 27/09/2016
  2. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 26/09/2016
    • Kajalsoni 27/09/2016
  3. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 26/09/2016
    • Kajalsoni 27/09/2016
  4. विनोद चन्द्र वर्मा विनोद चन्द्र वर्मा 26/09/2016
    • Kajalsoni 27/09/2016
    • Kajalsoni 27/09/2016
  5. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 26/09/2016
    • Kajalsoni 27/09/2016
  6. Bindeshwar prasad sharma Bindeshwar prasad sharma (bindu) 26/09/2016
    • Kajalsoni 15/10/2016
  7. mani mani 26/09/2016
    • Kajalsoni 27/09/2016
      • Kajalsoni 27/09/2016
        • mani mani 27/09/2016
          • Kajalsoni 27/09/2016
  8. MANOJ KUMAR MANOJ KUMAR 26/09/2016
    • Kajalsoni 27/09/2016
  9. अकिंत कुमार तिवारी 26/09/2016
    • Kajalsoni 27/09/2016
  10. Subhash 26/09/2016
  11. Subhash 26/09/2016
  12. Subhash 26/09/2016
    • Kajalsoni 27/09/2016
    • Kajalsoni 24/10/2016
  13. Meena Bhardwaj Meena Bhardwaj 27/09/2016
    • Kajalsoni 27/09/2016
  14. Manjusha Manjusha 22/10/2016
  15. Markand Dave Markand Dave 24/10/2016
    • Kajalsoni 24/10/2016

Leave a Reply