‘इक तेरे इश्क का जुनूँ’

कभी मेरी सांसों को महकाया
और कभी इस दिल को तड़पाया
कभी हंस के तू दिल में समाया
और पल में कभी दिल को रुलाया
इश्क-ए-वयां और क्या करूँ
बस इक तेरे इश्क का जुनूँ ।

सब रिश्ते-नाते तोड़ चुका हूँ
अब बंधन सारे छोड़ चुका हूँ
आया हूँ दीदार को तेरे
तरसें नैना प्यार को तेरे
दर्द-ए-जुवां और क्या कहूँ
बस इक तेरे इश्क का जुनूँ ।

क्या खुद से नाता तोड़ दूँ
और तुझे तड़पता छोड़ दूँ
जिन्दा हूँ इक आस में तेरी
बस जाऊं हर सांस में तेरी
दिल-ए-इंतेहां और क्या कहूँ
बस इक तेरे इश्क का जुनूँ ।

गर छोड़ दिया तूने मुझे तड़पता
रह जाऊंगा मैं यूँ ही सिसकता
रूह में तेरी बस जाऊंगा
मर के भी सांसे महकाऊंगा
जज़्बात-ए-वयां और क्या करूँ
बस इक तेरे इश्क का जुनूँ ।

मरने से पहले कुछ ऐसा कर दे
मोहब्बत का थोड़ा सा रंग भर दे
छोड़ दे दुनिया का ताना-बाना
है बन बैठा ‘बिजनौरी’ दीवाना
आलम-ए-दीवानगी और क्या कहूँ
बस इक तेरे इश्क का जुनूँ ।
बस इक तेरे इश्क का जुनूँ ।

कवि- कमल ‘बिजनौरी’

20 Comments

  1. शीतलेश थुल शीतलेश थुल 15/09/2016
    • कमल "बिजनौरी" कमल "बिजनौरी" 16/09/2016
    • कमल "बिजनौरी" kamal "bijnauri" 16/09/2016
      • कमल "बिजनौरी" कमल "बिजनौरी" 17/09/2016
  2. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 15/09/2016
    • कमल "बिजनौरी" कमल "बिजनौरी" 16/09/2016
    • कमल "बिजनौरी" कमल "बिजनौरी" 17/09/2016
  3. अकिंत कुमार तिवारी 15/09/2016
    • कमल "बिजनौरी" कमल "बिजनौरी" 16/09/2016
    • कमल "बिजनौरी" कमल "बिजनौरी" 17/09/2016
    • कमल "बिजनौरी" कमल "बिजनौरी" 16/09/2016
  4. mani mani 15/09/2016
    • कमल "बिजनौरी" कमल "बिजनौरी" 16/09/2016
  5. Kajalsoni 15/09/2016
    • कमल "बिजनौरी" कमल "बिजनौरी" 16/09/2016
  6. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 15/09/2016
    • कमल "बिजनौरी" कमल "बिजनौरी" 16/09/2016
    • कमल "बिजनौरी" कमल "बिजनौरी" 16/09/2016

Leave a Reply